पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को क्यों रहता है किडनी रोग का खतरा?

पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को क्यों रहता है किडनी रोग का खतरा?

पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को क्यों रहता है किडनी रोग का खतरा?

मानव शरीर का हर अंग बहुत खास होता है और स्वस्थ रहने के लिए हर अंग का सही तरीके से काम करते रहना ज़रूरी है। किडनी शरीर का बहुत महत्वपूर्ण अंग है जिसमें यदि खराबी हुई तो इंसान की जान पर बन आती है। वैसे तो किडनी की बीमारी किसी को भी हो सकती है, लेकिन महिलाओं में इस बीमारी का खतरा पुरुषों से ज़्यादा होता है।

एक अध्ययन के मुताबिक, हमारे देश में 14 प्रतिशत महिलाएं और 12 प्रतिशत पुरुष किडनी की समस्या से पीड़ित हैं। पूरी दुनिया में करीब 19.5 करोड़ महिलाएं किडनी की बीमारी से पीड़ित है। किडनी की बीमारी में सबसे बड़ा खतरा यह है कि शुरुआती अवस्था में इसका पता चल ही नहीं पाता, दोनों किडनी के 60 प्रतिशत खराब होने पर ही बीमारी पकड़ में आती है जिससे समस्या गंभीर हो जाती है। यह बीमारी महिलाओं को ज़्यादा होती है इसके लिए निम्न कारण ज़िम्मेदार हो सकते हैः

यूरीन रोके रखना
कई बार पब्लिक प्लेस पर टॉयलेट न होने या किसी अन्य समस्या की वजह से महिलाएं बहुत देर तक पेशाब रोके रखती हैं, जिससे ब्लैडर भर जाता है और यूरीन किडनी की तरफ चला जाता है, जिससे बैक्टीरिया किडनी में पहुंच जाते हैं।

ज़्यादा मीठा खाना
चॉकलेट, पैक्ड स्नैक्स, कोल्ड ड्रिंक आदि में फ्रुक्टोज़ होता है जो किडनी के लिए हानिकारक है। फ्रुक्टोज़ शरीर में यूरिक एसिड का लेवल बढ़ा देता है जिससे किडनी खराब होने का खतरा बढ़ जाता है।

नींद पूरी न होना
किडनी की बीमारी होने का एक मुख्य कारण पर्याप्त नींद न होना भी है। महिलाएं अक्सर सुबह सबसे पहले उठती हैं और रात में देरी से सोती हैं जिससे उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती और किडनी पर असर पड़ता है।

पेन किलर
सिर दर्द, बदन दर्द, कमर दर्द होने पर यदि आप भी बिना सोचे समझे पेन किलर खा लेती हैं तो अब सतर्क हो जाइए, क्योंकि ज़रूरत से ज़्यादा पेन किलर खाने से किडनी इंफेक्शन और किडनी फेलियर का खतरा बढ़ जाता है।

हाई ब्ल्ड प्रेशर
किडनी की बीमारी की एक वजह हाई ब्लड प्रेशर भी होता है, इसलिए इसे संतुलित रखने की कोशिश करें। हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए महिलाओं को खाने में नमक की मात्रा कम कर देनी चाहिए।

पानी की कमी
दिन में कम से कम 8-10 ग्लास पानी ज़रूर पीना चाहिए, क्योंकि पान की कमी से भी किडनी रोग की संभावना बढ़ जाती है।

किडनी रोग से बचने के लिए हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं। एक्सरसाइज़ के साथ ही डायट का भी ध्यान रखें। सिगरेट, शराब, फास्टफूड, पैक्ड फूड और ज़्यादा नमक वाले खाने से दूर रहें। इसकी जगह ताज़े फल और हरी सब्ज़ियों को डायट में शामिल करें और खूब पानी पीएं।

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: