महाराष्ट्र में पीएम मोदी बोले, हमने ‘मेक इन इंडिया के तहत रक्षा उत्पादन बढ़ाया

महाराष्ट्र में पीएम मोदी बोले, हमने ‘मेक इन इंडिया के तहत रक्षा उत्पादन बढ़ाया

महाराष्ट्र में पीएम मोदी बोले, हमने 'मेक इन इंडिया के तहत रक्षा उत्पादन बढ़ाया

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में एक रैली प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने एचएएल को खत्म कर दिया था, हमने ‘मेक इन इंडिया के तहत रक्षा उत्पादन बढ़ाया। उन्होंने कहा कि जैसे ही मैं वंशवाद, राष्ट्रीय सुरक्षा की बात करता हूं, तो कुछ लोगों को मानो करंट लग जाता है। आतंकवादी हमलों पर जवाबी कार्रवाई के बारे में पीए मोदी ने कहा कि वे (यूपीए) रोते रहे, हमने आतंकवादियों को उनके ठिकानों में घुसकर मारा। इस ‘चौकीदार ने आतंकवादी हमलों पर कांग्रेस नीत सरकार की कायराना नीति को बदल दिया। लोकसभा चुनाव के पहले दो चरणों के रुझान में भाजपा के आगे होने से विपक्ष चिंतित है। उन्होंने कहा कि सरकार प्याज भंडारण क्षमता बढ़ाने , ढुलाई पर कर घटाने की कोशिश कर रही है और कांग्रेस ने बिचौलियों को लाभ पहुंचाने के लिए फसलों के दाम बढ़ाए।

महाराष्ट्र में पीएम मोदी की रैली की मुख्य बातें
1- कांग्रेस HAL को लेकर अफवाहें फैला रही है, इन्होंने तो HAL को खत्म कर दिया था। हम तो नए नए डिफेन्स कॉरिडोर बनाकर उसे ताकत दे रहे हैं, आप लिखकर रखिये 10 साल में इसकी ताकत दोगुनी-तिगुनी हो जाएगी।

2- जब दाम गिर जाते हैं तो किसान के पास पहुंच जाते हैं और किसान की बाइट दिखवाते हैं कि किसान लुट गया। लेकिन बिचौलिए जो माल खा जाते उनकी हकीकत किसी को नहीं पता लगती।

3- कांग्रेस बिचौलियों को फायदा पहुंचाने के लिए फसलों की कीमत से खेलती है। जैसे ही महंगाई जरा भी बढ़ती है। कांग्रेस अपने दरबारियों को मध्यम वर्ग की ग्रहणियों के पास भेजकर इंटरव्यू कराती है।

4- हमारी सरकार बिचौलियों के राज को खत्म करने के लिए काम कर रही है। जैसे डेयरी सेक्टर में सहकारी संगठन होते हैं, वैसे ही अन्य कृषि सेक्टरों में FPO बनाए जा रहे हैं। देश में 22 हजार से ज्यादा ग्रामीण हाटों को भी विकसित किया जा रहा है।

5- 23 मई को जब फिर एक बार मोदी सरकार आएगी तो महाराष्ट्र के सभी किसानों को किसान सम्मान निधि योजना का लाभ दिया जाएगा। सरकार द्वारा फसलों की स्टोरेज क्षमता को बढ़ाने का भी प्रयास किया जा रहा है।

6- आदिवासी हस्तशिल्प का प्रचार-प्रसार करने के लिए ऑनलाइन व्यवस्था को मजबूत किया गया है। आदिवासी साथियों की कमाई के लिए वन उपजों को समर्थन मूल्य के दायरे में लाया गया है। वन उपजों का अधिक मूल्य मिले, इसके लिए वनधन केंद्र खोले जा रहे हैं।

7- अपने अन्नदाताओं के लिए हमारी सरकार ने बीज से बाजार से मजबूत व्यवस्था बनाई है। 22 फसलों की लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य देने का वादा हमने पूरा किया है। आदिवासी बच्चों की पढ़ाई के लिए देशभर में एकलव्य मॉडल स्कूल खोले जा रहे हैं। आदिवासी युवाओं के खेल कौशल को निखारने के लिए आदिवासी क्षेत्रों में खेल से जुड़ी सुविधाएं स्थापित की जा रही हैं।

8- एक तरफ हम भारतमाला और सागरमाला के माध्यम से दोगुनी रफ्तार से हाईवे बना रहे हैं वहीं नासिक जैसे शहरों के लिए उड़ान योजना के माध्यम से एयर कनेक्टिविटी भी बढ़ा रहे हैं। डाकिये के माध्यम से बैंक की सेवाओं को गांव-गरीब के दरवाजे पर खड़ा कर रहे है। डाकियों के वेतन में उचित वृद्धि का काम भी हमारी ही सरकार ने किया है।

9- एक तरफ हम डिजिटल लेनदेन के लिए देश को प्रोत्साहित कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ अब गांव-गांव के डाकघरों को भी बैंकों में बदल रहे हैं। हम तेज गति से गांव-गांव में सड़के बना रहे हैं और हर घर को रोशन करने के लिए मुफ्त बिजली दे रहे हैं। एक तरफ हमने गरीबों के बैंक खाते खुलवाए, वहीं बैंक के दरवाजे गरीबों, किसानों के लिए खोल दिये हैं।

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: