सरकारी आदेशों की उड़ रही धज्जियां

सरकारी आदेशों की उड़ रही धज्जियां

लखनऊ। राजधानी में जहा एक तरफ नगर निगम स्वच्छ भारत अभियान के चलते लखनऊ को स्वच्छता में एक नंबर बता रहा है वही इसकी जमीनी हकीकत कुछ और ही नजर आ रही है। जहा एक तरफ नगर नगम के नियमों के अनुसार किसी भी सार्वजनिक स्थल पर कूड़े को जलाया नहीं जा सकता है वही दूसरी तरफ अक्सर इस तरह के मामले सामने आते ही रहते हैं, और लोग सरकारी नियमों की धज्जिया उड़ाते नजर आते है और उन पर कोई कठोर कार्यवाई भी नहीं होती है जिससे ऐसा करने वालों के हौसले और बुलंद हो जाते हैं।

आपको बता दें की ऐसा ही एक मामला राजधानी के पुराने लखनऊ का सामने आया है जहा नगर निगम के जोन -6 में सरकटा नाला स्थित टंडन फव्वारे के पास कूड़े के ढेर में आग लगाई गई जिससे पूरे क्षेत्र में वायु प्रदूषण फैल गया है और लोगो को सास लेने में काफी परेशानी उठानी पड़ी। जैसा की आप जानते हैं कि वायु प्रदूषण पहले से ही बहुत फैला हुआ है और लोगों को पहले से ही गाड़ियों के धुंए से काफी परेशानी हो रही है और उस पर इस तरह से जगह जगह पर कूड़ा जलाना भी बड़ी समस्या है। मगर ऐसा करने वाले लोगो को इस बात की कोई परवाह नही है कि लोगो को उसके द्वारा लगाई गई कूड़े के ढेर में आग से परेशानी हो रही है। जिसके चलते लोगों को सास की बीमारी भी हो सकती है जबकि कूड़े के ढेर में आग लगाना कहीं भी और किसी भी क्षेत्र में प्रतिबंधित और इसपर खुद जिलाधिकारी ने लोगों से शिकायत करने की बात कही थी और नगर निगम लखनऊ भी इस बात को लेकर कई बार अपने कर्मचारियों को भी निर्देशित कर चुका है और सख्ती बरतने की बात भी कई बार कही है किन्तु नगर निगम के क्षेत्रीय कर्मचारी ही पूरी तरह अपनी ज़िम्मेदारी का निर्वाहन नहीं कर रहे हैं और यही वजह है कि लोगों में जागरूकता कि कमी होने से भी इस तरह की घटनाये सामने आ रही हैं। अब देखने वाली बात ये होगी कि क्या इस बात को भी नगर निगम संज्ञान में लेता है या नहीं और क्या इस तरह कूड़ा जलाने की घटनाओं को रोकने और अपने बिगड़े हुए कर्मचारियों के खिलाफ कोई कार्यवाही करता है।

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: