काकोरी ब्लाक की जनता का विश्वास चुनावी मुकाबले में नीतू सब पर भारी यही करेंगी गांव का विकास

काकोरी ब्लाक की जनता का विश्वास चुनावी मुकाबले में नीतू यादव सब पर भारी यही करेंगी गांव का विकास

भाजपा समर्थित पति-पत्नी बीडीसी ने किया नीतू का समर्थन,

गौतम ksp
लखनऊ।काकोरी ब्लाक जहां इस समय प्रमुख पद के चुनाव को लेकर प्रत्याशी बड़ी तेजी से सभी बीडीसी सदस्यों को अपने पक्ष में करने में जुटे हुए हैं।इन सबके बीच ग्रामीणों का मानना है कि काकोरी ब्लाक प्रमुख पद का चुनाव दो दावेदारों के बीच सिमट कर रह गया है।दोनों दावेदार भाजपा से टिकट पाने के लिए लगे हुए हैं।दोनों दावेदारों की साफ-सुथरी छवि पार्टी से टिकट पाने में सहायक बनेंगी।काकोरी ब्लाक प्रमुख पद इस बार पिछड़ी जाति महिला के लिए आरक्षित है।ब्लाक के अंतर्गत कुल 56 बीडीसी हैं।चुनाव में जीत हासिल करने के लिए 29 बीडीसी का जादुई आंकड़ा पार करना होगा।चुनाव में अभी तक चार दावेदार थे।लेकिन अब मात्र तीन दावेदार मैदान में बचे है।नीलम वर्मा ने अपनी दावेदारी वापस लेते हुए पूर्व ब्लाक प्रमुख नीतू यादव का समर्थन करने का निर्णय लिया है।नीलम वर्मा व उनके पति योगेंद्र लोधी दोनों ही बीडीसी सदस्य हैं।और भाजपा से ब्लाक प्रमुख का टिकट मांग रहे थे।
जिसमें में भाजपा से दावेदारी करने वाली पूर्व ब्लाक प्रमुख रही नीतू यादव पत्नी लल्लू यादव,कमलेश यादव पत्नी रमेश चंद्र यादव व समाजवादी पार्टी से रेखा यादव मैदान में हैं । जिसमें सामने आया है की चुनावी मैदान नीतू यादव यादव तथा कमलेश यादव के बीच में ही होगा।दोनों ही दावेदार भाजपा से टिकट मांगने के लिए चौखट पर खड़े हैं।यह दोनों ही दावेदार जीत के लिए बहुमत से अधिक बीडीसी अपने पक्ष में होने का दावा कर रहे हैं।बीडीसी सदस्यों की मानें तो ब्लॉक प्रमुख का चुनाव इन्हीं दोनों दावेदारों के बीच में होगा।लल्लू यादव की पत्नी नीतू यादव वार्ड नंबर 51 से बीडीसी का चुनाव निर्विरोध चुनाव जीती हैं।जबकि कमलेश यादव व उनकी बहू रेनू सिंह यादव दोनों ही अपने प्रतिद्वंद्वी भाजपा जिलाउपाध्यक्ष हंसराज लोधी की पत्नी को हराकर चुनाव जीती हैं।वहीं क्षेत्र वासियों का कहना हैकि पूर्व में रही ब्लाक प्रमुख नीतू यादव ने हमेशा जनता में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया है।उनके पत्नी कहने को तो भूमाफिया है।लेकिन गरीबों की बहू बेटियों की शादी में जरूर दस्तक देते हैं और जो उनसे बन पड़ता है वह करने के लिए हमेशा जनता के बीच में खड़े रहते हैं।और धार्मिक कार्यक्रमों में बढ़चढ़ कर प्रतिभाग करते हैं।उन्होंने कई मंदिरों का निर्माण कार्य भी क्षेत्र में कराया है।यूं तो लल्लू यादव का नाम तो राजधानी में मशहूर है।उसके बावजूद भी काकोरी क्षेत्र में जनता उन्हें हंसमुख दिलवाला मानती है और हमेशा चेहरे पर मुस्कान रहती है।जनता के बीच मुस्कुरा कर बात करते है।वही ग्रामीणों का कहना है कि भाजपा से टिकट पाने में दावेदारों की साफ-सुथरी छवि को ही टिकट दिया जाएगा।जिससे यह साबित होता है कि इस बार नीतू यादव के पक्ष में प्रधान व बीडीसी प्रचार करने के साथ-साथ में जनता भी लगी हुई है।जिससे इस प्रचार चुनाव से खुश हैं।बीडीसी अधिक से अधिक नीतू यादव को मत देने की सोच रहे हैं।बीडीसी सदस्यों ने माना है लल्लूूूू यादव की पत्नी नीतू यादव को ब्लॉक प्रमुख बनाना है।वैसे तो नीतू यादव व कमलेश यादव बिल्कुल बेदाग हैं।जबकि दोनों के पति का दामन पुलिस रिकार्ड के अनुसार बेदाग नहीं हैं।लल्लू यादव जहाँ विधानसभा व लोकसभा चुनावों में भाजपा का खुलकर समर्थन करते हुए चुनाव प्रचार प्रसार किया है।तो वहीं कमलेश यादव के बेटे पूर्व जेष्ठ उप ब्लाक प्रमुख धर्मेन्द्र सिंह यादव ने विधानसभा व लोकसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी के प्रत्यशियों के पक्ष में चुनाव प्रचार किया है।दोनों की ही चुनावों में जनसम्पर्क करते हुए फोटो शोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: