B.Tech स्टूडेंट्स ने किसानों के लिए बनाया ड्रोन, जिससे कम लागत में मिलेगी अच्छी फसल

लखनऊ। जयपुरिया प्रबंध संस्थान में बुधवार को हुए एग्रिफेस्ट में संस्थापक अमनदीप पवार और रिषभ ने अपने स्टार्टअप ‘भारतरोहण’ का प्रदर्शन किया। अमनदीप पवार ने बताया कि सरकार के स्टार्टअप प्रोजेक्ट उड़ान के तहत उन्हें फंडिंग मिली है।

बता दें अमनदीप पवार और रिषभ ने एक ऐसा ड्रोन बनाया है जो किसान के फसलों की निगरानी के साथ कीट प्रभावित हिस्से पर कीटनाशक दवाईयों का छिड़काव भी करेगा। इतना ही नहीं किसानों को इसके लिए न ड्रोन खरीदना है न ही ज्यादा खर्च करना है।  महज 100 रुपये प्रति एकड़ देकर फसल का रखरखाव कर सकेंगे।

जानकारी के मुताबिक बीबीडी से बीटेक कर चुके दो छात्रों ने ‘भारतरोहण’ स्टार्टअप के तहत ड्रोन तैयार किया है, जो पूरी फसल पर नजर रखेगा।  ऐसे में अमनदीप पवार ने बताया कि सरकार के स्टार्टअप प्रॉजेक्ट उड़ान के तहत उन्हें फंडिंग भी मिलनी शुरू हो चुकी है।

वहीं अमनदीप ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि ‘हम बाराबंकी के मेंथा उगाने वाले किसानों के साथ काम कर रहे हैं। पहले एक एकड़ में किसान को लगभग 15 हजार रुपये बुआई और कीटनाशक आदि पर खर्च करने पड़ते थे। लेकिन ड्रोन की मदद से अब यह घटकर 11300 रुपये हो गया है। वहीं, पहले एक एकड़ में उत्पादन 50 से 60 किलो होता था, जबकि अब 80 किलो तक हो गया है। ऐसे में पैदावार लगभग 25 से 30 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हुई है और लागत भी कम आई है।

ऐसे में अमनदीप ने किसानों के बारे में बात करते हुए कहा कि वे लोग पहले पूरे खेत में कीटनाशक छिड़कते थे, लेकिन अब ड्रोन में लगे माइक्रो कैमरे की मदद से उसी जगह छिड़काव करते हैं, जहां जरूरत होती है। अमनदीप के मुताबिक, हर 15 दिन पर एक बार ड्रोन से पूरे खेत का निरीक्षण करते हैं। इसके लिए एक्सपर्ट रखे गए हैं। इसमें सीमैप ने भी काफी मदद पहुंचाई है।

किसानों की फसल भी अच्छे दामों लेते हैं खरीद

अमनदीप ने आगे बताया, ‘किसान को फसल बेचने के लिए भी अब कहीं दूर नहीं जाना पड़ता है। क्योंकि हम अब उनकी फसल भी अच्छे दामों पर खरीद लेते हैं, क्योंकि फसल बेचने के लिए हमने कई कंपनियों के साथ टाइअप किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: