कानपुर मे सलवार सूट पहनकर मारी थी गोली, हत्यारोपित ने बताईं कहानी

घाटमपुर के गांव रामसारी में प्रधान के अधिवक्ता पति की हत्या से पुलिस ने पर्दा उठा दिया। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो कई चौंकाने वाले बातें सामने आईं। उसने महत्वाकांक्षा पूरी करने के लिए महिला का रूप बनाकर अधिवक्ता की हत्या करने की स्वीकारोक्ति की है, पुलिस ने उसे जेल भेजा है।अधिवक्ता सत्येंद्र सिंह भदौरिया शुक्रवार रात अपने गांव रामसारी गए थे। देर रात घर के समीप उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने गांव के ही एक हिस्ट्रीशीटर समेत दो दर्जन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की तो अधिवक्ता के चाचा राम सिंह के बेहद नजदीकी परिवार के एक युवक का नाम सामने आया था। पुलिस चुनावी रंजिश से लेकर सार्वजिनक संपत्ति में अवैध कब्जे के विवाद के साथ प्रेम त्रिकोण के एंगल पर जांच में जुटी थी। मामले के खुलासे में तेजी से लगी पुलिस को मोबाइल की सीडीआर ने राह दिखाई और वह अभियुक्त के करीब तक पहुंच गई। संदेह के दायरे में आने वाले करीब दो दर्जन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। रविवार दोपहर मृतक की ग्राम प्रधान पत्नी ने चुनावी रंजिश में अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था।अधिवक्ता सत्येंद्र भदौरिया की हत्या गांव के ही शातिर युवक ने प्रधान बनने की चाहत में की थी। इतना ही लोगों को धोखा देने के लिए वह सलवार सूट पहनकर अधिवक्ता के पास पहुंचा था और गोली मार दी थी। ताकि यदि कोई दूर से देखे तो किसी महिला द्वारा हत्या किए जाने का संदेह जताए और पुलिस महिला की तलाश में लगी रहे। मंगलवार को घाटमपुर कोतवाली में आयोजित प्रेस वार्ता में एसएसपी अनंतदेव तिवारी की मौजूदगी में गिरफ्तार आरोपित संदीप सिंह उर्फ गुरु ने बताया कि प्रधान बनने की चाहत में उसने हत्या की योजना बनाई थी।बाजार से सूट व दुपट्टा खरीदा और शराब पीकर अंधेरे में खड़े हो गया। करीब 25 मिनट के इंतज़ार के बाद प्रधान के पति बाहर निकले तो गोली मार करने के बाद वह घर में जाकर सो गया था। एसएसपी ने बताया कि हत्यारोपित के कब्जे से तमंचा व कारतूस और महिला के कपड़े बरामद कर लिए गए हैं। चार वर्ष पूर्व बर्रा थाना में दर्ज हत्या के प्रयास के मुकदमे में भी उसके नाम बदल कर जेल जाने का भी मामला प्रकाश में आया है। इसमें भी धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराकर अलग से कार्रवाई की जाएगी।पुलिस द्वारा प्रधान के पति की हत्या के खुलासे से परिजन सन्तुष्ट नही हैं। एसएसपी के सामने पहुंचे मृतक के भाई उपेंद्र सिंह व हमीरपुर निवासी ससुर सुखनंदन सिंह ने हत्या के पीछे गांव के पूर्व प्रधान का नाम लेकर साजिश का आरोप लगाया। एसएसपी ने सीओ रवि कुमार सिंह को इस बिंदु पर भी सघन छानबीन के निर्देश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: