काकोरी:लघुशंका करने गई छात्रा गायब

काकोरी में  सलोरा इंटर कॉलेज से हाईस्कूल की छात्रा संदिग्ध हालात में लापता हो गई। वह टॉयलेट के लिए स्कूल के पीछे बने बाग में गई थी।
ग्रामीणों ने सफेद कार सवार बदमाशों पर छात्रा को उठाकर ले जाने की जानकारी दी तो हड़कंप मच गया।
आक्रोशित ग्रामीण आगरा एक्सप्रेस-वे पर निकल आए और जाम लगाकर हंगामा व प्रदर्शन शुरू कर दिया।
सूचना पाकर आई पुलिस ने छात्रा का पता लगाने का आश्वासन देकर ग्रामीणों को शांत कराया। इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार मिश्रा ने बताया कि परिवारीजनों की तरफ से अज्ञात बदमाशों के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज करके जांच की जा रही है।
इंस्पेक्टर ने बताया कि छात्रा के पिता डॉक्टर हैं। वह छोटे भाई संग स्कूल आती है। दोपहर सवा बारह बजे वह टॉयलेट के लिए स्कूल के पीछे स्थित बाग में गई और लापता हो गई।
काफी देर तक नहीं आई तो अन्य छात्राओं ने स्कूल प्रबंधक राजीव यादव व शिक्षकों को सूचना दी।
स्टाफ ने अन्य छात्राओं के साथ मिलकर उसकी तलाश शुरू की लेकिन कुछ पता नहीं चला। इस बीच परिवारीजन मौके पर आ गए। सैकड़ों ग्रामीण मौके पर एकत्र हो गए।
इस दौरान कुछ लोगों ने छात्रा को एक सफेद रंग की कार से उठाकर ले जाने की जानकारी दी। यह सुनते ही परिवारीजनों के होश उड़ गए और उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया।
गुस्साए परिवारीजन व ग्रामीण आगरा एक्सप्रेस-वे पर पहुंच गए और जाम लगा दिया। कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस का कहना है कि टीमें लगाई गई हैं। क्राइम ब्रांच व सर्विलांस टीम को भी सतर्क कर दिया गया है।
स्कूल का टॉयलेट सिर्फ स्टाफ के लिए, खुले में जाती हैं छात्राएं
ग्रामीणों ने स्कूल में छात्राओं की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाए हैं। उनका कहना है कि स्कूल में टॉयलेट बना है, लेकिन वह सिर्फ स्टाफ के लिए है। छात्राओं को स्कूल के पीछे स्थित बाग में जाना पड़ता है। यह छात्राओं की सुरक्षा और स्वच्छता की दृष्टि से असुरक्षित है।
शिक्षक की डांट के भय से सहेलियों ने साथ जाने से मना किया
छात्रा के साथ पढ़ने वाली तीन सहेलियों ने बताया कि बाग में अकेले जाना सुरक्षित नहीं है इसलिए वह उन्हें अपने साथ चलने को कह रही थी। हालांकि, उन्होंने शिक्षक की डांट का हवाला देते हुए साथ जाने से इनकार कर दिया। छात्राओं का कहना था कि अगर वह उसके साथ चली जातीं तो शायद इतना बवाल न होता।
छात्रा का रुमाल व ब्रेसलेट बाग में पड़ा मिला
छात्रा का रुमाल और ब्रेसलेट बाग में पड़ा मिला है। परिवारीजनों का कहना है कि रुमाल के पास कुछ पैरों और कुछ चप्पलों के निशान दिख रहे हैं। ऐसा लग रहा है कि छात्रा को ले जाने वाले दो या उससे अधिक व्यक्ति थे।
बांस-बल्लियां और पत्थर लगाकर किया जाम
गुस्साए ग्रामीणों ने आगरा एक्सप्रेस-वे के दोनों तरफ बांस-बल्लियां और पत्थर लगा दिए और सड़क पर बैठ गए। ऐसा करने से वाहनों की लंबी कतार लग गई। कई वीआईपी भी जाम में फंसे नजर आए। करीब एक घंटे तक जाम लगा रहा। पुलिस ने किसी तरह लोगों को समझाकर जाम हटवाया।
बाइक सवार युवक ने छात्रा को कार में ले जाते हुए देखा था
छात्रा को कार से उठाकर ले जाते हुए काकोरी के लालनगर निवासी अखिलेश यादव ने अपनी आंखों से देखा था। उसने पुलिस को इस बारे में जानकारी भी दी। अखिलेश ने बताया कि दोपहर करीब एक बजे वह भलिया गांव से अपने रिश्तेदार के यहां जा रहा था। रास्ते में दोनों गांव स्थित आगरा एक्सप्रेस-वे के अंडरपास के पास सफेद रंग की मारुति वैन में उसने छात्रा को देखा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: