लखनऊ के बाजारखाला मे युवती बनकर की थी दोस्ती ठगे थे ढाई लाख। एसटीएफ ने गिरोह के सरगना को दबोचा

फेसबुक पर फर्जी प्रोफाइल बनाकर सैकड़ों लोगों से करोड़ों रुपये ठगने के आरोप में एसटीएफ ने एक नाइजीरियन को गिरफ्तार किया है। आरोपित गिरोह फर्जी प्रोफाइल के जरिये प्रेमजाल में फंसाता था और फिर उनसे मोटी रकम ठग लेता था।एसएसपी एसटीएफ राजीव नारायण मिश्र के मुताबिक, नाइजीरियन गैंग के ओलिवर उजोमो उगोचु को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है। गिरोह के अन्य बदमाशों की तलाश की जा रही है। गौरतलब है कि केजीएमयू की महिला प्रोफेसर ने भी नाइजीरियन ठग के झांसे में आकर करोड़ों रुपये गंवा दिए थे।एसएसपी एसटीएफ के मुताबिक, आरोपित ओलिवर मूलरूप से नाइजीरिया के ओरलु रोड ओवेरी इमो स्टेट का रहने वाला है, जो यहां 284 गली नंबर एक देवली एक्सटेंशन थाना टिग्री नई दिल्ली में रह रहा था। आरोपित के पास से एक लैपटाप, एक पासपोर्ट, आठ मोबाइल फोन, तीन एटीएम कार्ड व दो डीएल समेत अन्य सामान बरामद किए गए हैं। पूछताछ में आरोपित ने बताया कि वह 2012 में नाइजीरिया से भारत आया था, तब से वह दिल्ली में रह रहा है। यहां उसने मेघालय की रहने वाली शैटामेरी से शादी कर ली थी। इसके बाद पत्नी संग मिलकर वह लोगों से ठगी कर रहा है। इसमें कुछ नाइजीरियन युवक-युवतियों के अलावा भारतीय भी शामिल हैं।पुराना हैदरगंज बाजारखाला निवासी रमेश चंद्र शुक्ल ने 12 जून को एफआइआर दर्ज कराई थी। रमेश विदेश जाने के लिए इंटरनेट पर जानकारी ले रहे थे। उसी दौरान जूलिया जोम्स नाम की महिला ने उन्हें फोन किया था और खुद को यूके की निवासी बताई थी। महिला ने फोन पर मित्रता कर ली थी और च्वेलरी शोरूम की मालकिन बताकर भारत आने की इच्छा जताई थी। महिला ने रमेश को झांसे में लेकर दिल्ली एयरपोर्ट पर कस्टम अफसर द्वारा माल पकड़े जाने की बात कहकर फर्जी कस्टम अधिकारी से बात भी कराई थी। इसके बाद अलग-अलग खाते में रमेश से दो लाख 53 हजार रुपये मंगाए थे।पूछताछ में आरोपित ने बताया कि हम लोग फेसबुक व अन्य सोशल मीडिया एप से सुंदर युवक-युवतियों की फोटो निकालकर युवक-युवतियों की प्रोफाइल बनाते हैं। पुरुषों से विदेशी महिलाएं व महिलाओं से विदेशी पुरुष बनकर दोस्ती करते हैं और फिर मोबाइल फोन और फेसबुक के माध्यम से लोगों को प्रेमजाल में फंसा लेते हैं। बातों में उलझाकर भारत आकर मिलने व महंगे गिफ्ट का लालच देते हैं। इसके बाद आरोपित एयरपोर्ट पर पकड़े जाने का झांसा देकर कहते हैं कि जो रुपये व सामान गिफ्ट देने के लिए लाए थे उसे कस्टम अफसर ने जब्त कर लिया। फिर फर्जी कस्टम अधिकारियों से बात कराकर गिफ्ट छुड़ाने का लालच देकर रुपये मंगाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: