लखनऊ। अल्पसंख्यक वर्ग के छात्र/छात्राओं को नेशनल स्काॅलरशिप पोर्टल के माध्यम से छात्रवृत्ति देने की योजनाओं पर विचार विमर्श के लिए एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस राज्य कार्यशाला का आयोजन गोमतीनगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय भारत सरकार और उप्र अल्पसंख्यक कल्याण एवं वक्फ विभाग के संयुक्त तत्वावधान में हुआ। कार्यशाला का उद्घाटन प्रदेश सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता ‘नन्दी’ ने किया। इस मौके पर नन्दी ने सभी से, विशेषकर जम्मू एवं कश्मीर व अन्य राज्यों के प्रतिनिधियों से इस कार्यशाला का लाभ उठाने की अपील की।

उन्होंने कहा कि सरकार सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास के लिए प्रतिबद्ध है। यह कार्यशाला इस दिशा में मील का पत्थर साबित होगी।

कहा कि कार्यशाला का उद्देश्य नेशनल स्कालरशिप पोर्टल पर आ रही तकनीकी समस्याओं पर चर्चा व उनका समाधान निकालना है। प्रमुख सचिव, अल्पसंख्यक कल्याण मनोज सिंह ने प्रदेश में इस योजना के बेहतर कार्यान्वयन का आश्वासन दिया। कहा कि अन्य प्रदेशों के प्रतिनिधियों को लखनऊ में कोई परेशानी नहीं होगी। प्रमुख सचिव ने उपस्थित अधिकारियों से कहा कि वह यहां से कुछ सीखकर जाएं। कार्यशाला में केन्द्रीय छात्रवृत्ति योजनाओं पर व्यापक चर्चा हुई। केन्द्र सरकार के अधिकारियों ने व एन.आई.सी. दिल्ली के अधिकारियों ने नेशनल स्कालरशिप पोर्टल पर आ रही समस्याओं का निराकरण किया। कार्यशाला में राज्यों जनपदों संस्थाओं के लगभग 450 प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

इस अवसर पर राज्य मंत्री, अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज मोहसिन रजा के साथ-साथ अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव नीवा सिंह, उप सचिव ध्रुव चक्रवर्ती, अवर सचिव आदित्य सिंह, एन.आई.सी. दिल्ली के उप महानिदेशक एस.वी. सिंह, वरिष्ठ तकनीकी निदेशक शशिभूशण उपस्थित रहे। उप्र शासन की ओर से प्रमुख सचिव, अल्पसंख्यक कल्याण एवं वक्फ मनोज सिंह, विशेष सचिव, डा. आभा गुप्ता, संयुक्त निदेशक, अल्पसंख्यक कल्याण एस.एन. पाण्डेय एवं आर.पी. सिंह उपस्थित रहे। उत्तर क्षेत्र के विभिन्न राज्यों (जम्मू एवं कश्मीर उत्तराखण्ड, हरियाणा, चण्डीगढ़ दिल्ली, हिमांचल प्रदेश एवं पंजाब) के छात्रवृत्ति के राज्य नोडल अधिकारियों द्वारा भी प्रतिभाग किया गया। कार्यशाला में अल्पसंख्यक कल्याण विभाग, उप्र के सभी उपनिदेशक तथा जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी भी उपस्थित रहे। विभिन्न जनपदों के शिक्षण संस्थाआंे के प्रतिनिधियों द्वारा भी कार्यशाला में प्रतिभाग किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: