मन की बात में बोले पीएम- गांधी जयंती पर खुले में शौच से मुक्त हो जाएगा भारत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात के जरिए लोगों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि हमारा देश, इन दिनों एक तरफ वर्षा का आनंद ले रहा है, तो दूसरी तरफ, हिंदुस्तान के हर कोने में किसी ना किसी प्रकार से, उत्सव और मेलों की धूम है। दीवाली तक, सब-कुछ यही चलेगा।

पिछले दिनों हम लोगों ने कई उत्सव मनाये। कल, हिन्दुस्तान में श्री कृष्ण जन्म-महोत्सव मनाया गया। मित्रता कैसी हो, तो सुदामा वाली घटना कौन भूल सकता है और युद्ध भूमि में इतनी सारी महानताओं के बावजूद भी सारथी का भार स्वीकारना।

पीएम मोदी ने महात्मा गांधी के 150वीं जयंती वर्ष के अवसर पर कहा कि  आज जब हम, उत्सवों की चर्चा कर रहे हैं, तब, भारत एक और बड़े उत्सव की तैयारी में जुटा है। भारत के साथ-साथ दुनियाभर में इसकी चर्चा है। मैं बात कर रहा हूं महात्मा गाँधी की 150वीं जयन्ती की।

दो अक्तूबर को खुले में शौच मुक्त होगा भारत

पीएम ने कहा कि इस बार 2 अक्टूबर को जब बापू की 150वीं जयंती मनायेंगे तो इस अवसर पर हम उन्हें न केवल खुले में शौच से मुक्त भारत समर्पित करेंगे बल्कि उस दिन पूरे देश में प्लास्टिक के खिलाफ एक नए जन-आंदोलन की नींव रखेंगे। कई व्यापारी भाइयों-बहनों ने दुकान में एक तख्ती लगा दी है, जिस पर यह लिखा है कि ग्राहक अपना थैला साथ ले करके ही आयें। इससे पैसा भी बचेगा और पर्यावरण की रक्षा में वे अपना योगदान भी दे पायेंगे।

उन्होंने कहा कि गांधी जी ने किसानों की सेवा की जिनके साथ चम्पारण में भेद-भाव हो रहा था। उन मिल मजदूरों की सेवा की जिन्हें उचित मजदूरी नहीं मिल रही थी, गांधी जी ने गरीब, बेसहारा और कमजोर लोगों की सेवा को अपने जीवन का परम कर्तव्य माना। गांधी जी ने सेवा शब्दों में नहीं, जी करके सिखायी थी। सत्य के साथ, गांधी जी का जितना अटूट नाता रहा है, सेवा के साथ भी उतना ही अनन्य अटूट नाता रहा है।

मेरा सौभाग्य मुझे महात्मा गांधी से जुड़े कई महत्वपूर्ण स्थलों पर जाने का अवसर मिला: पीएम

महात्मा गाँधी, अनगिनत भारतीयों की तो आवाज बने ही, लेकिन, मानव मूल्य और मानव गरिमा के लिए, एक प्रकार से, वे, विश्व की आवाज बन गये थे। पीएम मोदी ने कहा कि ये मेरा बहुत ही सौभाग्य रहा है, कि मुझे, पूज्य महात्मा गांधी से जुड़ी कई महत्वपूर्ण जगहों पर जाकर के नमन करने का अवसर मिला है

वेनिस बायनेले नाम का एक प्रसिद्ध ऑर्ट शो है। जहाँ दुनिया भर के कलाकार जुटते हैं। इस बार वेनिस बायनेले के इंडिया पवेलियन में गांधी जी की यादों से जुड़ी प्रदर्शनी लगाई गई। इसमें हरिपुरा पैनल्स विशेष रूप से दिलचस्प थे। सत्य के साथ गांधीजी का जितना अटूट नाता रहा है, सेवा के साथ भी गाँधी का उतना ही अनन्य अटूट नाता रहा है। उन्होंने ना केवल सेवा पर बल दिया बल्कि उसके साथ जुड़े आत्म-सुख पर भी जोर दिया

इस साल 11 सितंबर से शुरू होगा ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान

पीएम मोदी ने कहा कि आपको याद होगा कि पिछले कुछ सालों में हम 2 अक्टूबर से पहले लगभग 2 सप्ताह तक देशभर में ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान चलाते हैं। इस बार ये 11 सितम्बर से शुरू होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: