बीमार बच्ची के रोने से नींद में पड़ी खलल, पति ने दिया तीन तलाक

इंदौर। सरकार के सख्त कानून बना देने के बावजूद भी आए दिन तीन तलाक के मामले देखने को मिल रहे हैं। ताजा मामला मध्यप्रदेश का है। यहां एक 21 वर्षीय महिला ने अपने पति पर तीन तलाक देने का आरोप लगाया है वो भी सिर्फ इसलिए क्योंकि एक साल की मासूम बीमार बच्ची के रोने से उसकी नींद में खलल पड़ गई। तीन तलाक देने के बाद उसे घर से भी निकाल दिया।

दरअसल, मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले के सेंधवा कस्बे में मायके में रह रही उज्मा अंसारी ने अपने पति अकबर और ससुराल वालों के खिलाफ शिकायत की है। महिला ने सेंधवा के पुलिस थाने में दर्ज शिकायत में बताया कि, ‘मेरी बच्ची चार अगस्त को बीमार थी, वह रात में उठकर रोने लगी। बच्ची के रोने से मेरे पति की नींद खुल गई। वह मुझे बच्ची को मार डालने को कहने लगे। इस बात पर हम दोनों की कहासुनी हो गई। हमारे बीच बहस सुनकर मेरे ससुर और जेठ कमरे में आ गए। फिर इन सभी ने मेरे साथ मारपीट की और मेरी बेटी को पलंग से नीचे फेंक दिया।’

महिला ने बताया कि मेर पति ने ससुराल वालों के सामने ही तीन तलाक बोला और फिर मेरे मायके फोन कर मां से कहा कि आकर अपनी बेटी को ले जाओ। यही नहीं महिला ने ससुराल वालों पर मारपीट करने, दहेज के लिए प्रताड़ित करने और बेटी पैदा होने पर मारपीट का आरोप भी लगाया है। बता दें, दोनों की शादी को अभी सिर्फ दो ही साल हुए हैं।

इस मामले पर बड़वानी के पुलिस अधीक्षक डीआर टेनीवार ने कहा कि  यह मामला इंदौर का है। इसलिए हमने उसकी शिकायत को जांच के लिए इंदौर पुलिस को भेज दिया है। वहीं, इंदौर के रावजी बाजार पुलिस थाने के प्रभारी सुनील गुप्ता ने बताया कि उनके पास अबतक कोई शिकायत नहीं आई है लेकिन महिला से बातचीत कर आगे की कार्रवाई करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: