पेट्रोल और डीजल के बढ़े दामों के खिलाफ विपक्ष की रणभेरी

लखनऊ: यूपी में वैट लागू करने के कारण पेट्रोल और डीजल के दामों में आई तेजी के खिलाफ कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने सत्ताधारी बीजेपी पर निशाना साधा है. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने यूपी में कई जगहों पर पेट्रोल-डीजल के बढ़े दामों के खिलाफ प्रदर्शन किया.

कांग्रेस नेता तनुज पुनिया ने बाराबंकी में पुतला फूंका और शहर में बैलगाड़ी पर मोटरसाइकिल रख कर विरोध प्रदर्शन किया. कांग्रेस के यूपी अध्यक्ष राज बब्बर ने कहा कि योगी सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर वैट की दर बढ़ाकर जनता के खिलाफ फैसला लिया है. कांग्रेस इसके खिलाफ प्रदर्शन करेगी.

समाजवादी पार्टी ने मेरठ में बैलगाड़ी पर सवार होकर प्रदर्शन किया. बच्चा पार्क पर जमा होकर कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी की और सरकार के फैसले को जनविरोधी बताया. सपा नेताओं ने कहा कि जबरन इस फैसले को जनता पर थोपा जा रहा है जिसके खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा.

इससे पहले समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्विटर पर लिखा- एक तरफ लोगों का धंधा-पानी चौपट हो गया है और उस पर बिजली, पेट्रोल, डीज़ल के बढ़े दामों ने महँगाई से यूपी की जनता की कमर तोड़ दी है. चुनाव जीतने के बाद मतलबी सरकार अपनी मनमानी से जनता से अधिक-से-अधिक वसूल लेना चाहती है. भाजपा के राज में जनता ख़ुद को प्रताड़ित महसूस कर रही है.

समाजवादी पार्टी के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया- चुनावों में वोट लेने के लिए वैट घटाया, सत्ता मिलते ही जनता को महँगाई की आग में झुलसाया! भाजपा सरकार द्वारा पेट्रोल-डीज़ल पर टैक्स वृद्धि ग़रीब, मध्यम वर्ग, किसान और नौजवान से धोखा है. पूँजीवादी सत्ता को इनकी फ़िक्र नहीं!

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट किया- यूपी बीजेपी सरकार द्वारा पेट्रोल व डीजल की कीमत में भारी वृद्धि महंगाई बढ़ाने व करोड़ों गरीब व मध्यम वर्गीय परिवारों के पेट पर लात मारने वाला क्रूर कदम है. बदतर क़ानून-व्यवस्था, महंगाई व बेरोज़गारी से त्रस्त जनता का दुःख और बढ़ेगा. सरकार जनहित पर ध्यान केन्द्रित करे तो बेहतर है.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी दो ट्वीट किए. उन्होंने लिखा- आम जनता दिन-रात राह देख रही है कि इस भयानक मंदी से राहत कब मिलेगी? नौकरियों का खत्म होना कब रुकेगा? भाजपा सरकार एक तरफ अपनी नीतियाँ से आर्थिक तबाही लाती है, व्यापार नष्ट करती है दूसरी तरफ जनता पर महँगाई का चाबुक चलाती है. क्या भाजपा अब खुल के बताएगी कि उसके भ्रष्टाचार ने उत्तर प्रदेश को कंगाल कर दिया है?

आपको बता दें कि अक्तूबर 2018 में योगी सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर से वैट हटा दिया था जिसे अब दोबारा लगा दिया गया है. सरकार का कहना है कि उसे हर महीने 250 करोड़ का नुकसान हो रहा था. अभी तक करीब 3000 करो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: