सहारनपुर पत्रकार हत्याकांड: सीएम योगी ने दिए कड़ी कार्रवाई के आदेश, विपक्ष ने घेरा

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में घर में घुसकर पत्रकार आशीष जनवाणी और उनके भाई की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. इस घटना को लेकर विपक्षी दलों ने राज्य की भाजपा सरकार को कानून व्यवस्था के मुद्दे पर घेरा है. हत्या का आरोप इलाके के शराब माफिया पर लगा है. आशीष को शराब माफिया की तरफ से कई बार धमकियां भी दी गई थीं.

सहारनपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार ने बताया कि दैनिक जागरण अखबार के फोटो पत्रकार आशीष (23) और उसके भाई आशुतोष (19) की उनके पड़ोसी महिपाल सैनी ने गोली मारकर हत्या कर दी.

उन्होंने बताया कि महिपाल और आशीष के बीच गोबर फेंकने को लेकर विवाद था. रविवार सुबह बात बढ़ने पर महिपाल और उसके बेटे ने आशीष के घर में घुसकर उसे और उसके भाई आशुतोष को गोली मार दी. दोनों को पास के अस्पताल पहुंचाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि हत्या के आरोपियों की गिरफ्तारी के लिये तीन टीमें गठित की गयी हैं.

सीएम योगी ने की मृतकों के परिजन को पांच-पांच लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस वारदात का संज्ञान लेते हुए मृतकों के परिजन को पांच-पांच लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा की है. उन्होंने स्थानीय पुलिस को इस मामले में कड़ी कार्रवाई करने के आदेश भी दिये हैं.

अपराधों को रोकने की जिम्मेदारी वाले लोग लीपापोती में जुटे हैं- प्रियंका गांधी

इस बीच, कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने इस घटना पर प्रदेश सरकार को घेरते हुए ट्वीट किया, “आप इस व्यवस्था को क्या कहेंगे जहां हर दिन गोली चलाकर सरेआम हत्याओं का दौर जारी है. अपराधों को रोकने की जिम्मेदारी वाले लोग लीपापोती में जुटे हैं.”

अखिलेश बोले- ‘उत्तम प्रदेश’ की जगह यूपी को कहा जा रहा है ‘हत्या प्रदेश’

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने घटना पर गहरा दुख जताते हुए दोषियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है. उन्होंने कहा कि उनकी पूर्ववर्ती सरकार मृतकों के परिजनों को 20-20 लाख रुपए की सहायता देती थी, भाजपा सरकार को भी इतनी मदद तो करनी ही चाहिए.

अखिलेश ने ट्वीट कर कहा कि पहले उत्तर प्रदेश उत्तम प्रदेश बनने की राह पर था अब भाजपा राज ने ‘हत्या प्रदेश‘ बना दिया है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस्तीफे की मांग

कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू ने इस घटना को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से नैतिकता के आधार पर इस्तीफा मांगा है. उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं रह गई है. दिन-दहाड़े हत्या लूट की वारदात हो रही है और सरकार कानून-व्यवस्था के नाम पर अपनी पीठ खुद ही थपथपाने में लगी है.

भाजपा ने सहारनपुर की वारदात पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया है. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और महासचिव सुनील बंसल ने कहा कि इस दुख की घड़ी में पूरी पार्टी मृत पत्रकार के परिवार के साथ खड़ी है. सरकार ने हत्यारों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश पहले ही दे दिए हैं.

पत्रकार आशीष की दो साल पहले शादी हुई थी और उनकी पत्नी गर्भवती हैं. आशीष के पिता की दो वर्ष पूर्व कैंसर से मौत हो गयी थी.

पत्रकार और उसके भाई की गोली मारकर हत्या किये जाने को लेकर सहारनपुर के पत्रकारों मे रोष व्याप्त है. सहारनपुर के पत्रकारों ने एक बैठक आयोजित कर पत्रकार आशीष और उनके भाई आशुतोष को श्रद्धांजलि अर्पित की. पत्रकारों ने एक स्वर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ओर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से पीड़ित परिवार को 50-50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और परिवार के दो सदस्यों को सरकारी नौकरी देने की मांग की.

मृतक आशीष जनवाणी, हिन्दुस्तान समाचार पत्र में अपने सेवा दे चुके हैं और अभी हाल ही में दैनिक जागरण से जुड़े थे. बताया जा रहा है कि मृतक के परिवार वाले सभी लोग आशीष पर ही निर्भर थे. वो घर में अकेले कमाने वाले थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: