सावन का आखिरी सोमवार को- बम-बम भोले के जयकारों से गूंज उठी संगम नगरी, शिवालयों में उमड़ी भक्तों की भारी भीड़

भगवान शिव की आराधना माह सावन के आख़िरी सोमवार पर. सावन के आख़िरी सोमवार पर संगम नगरी प्रयागराज के शिवालयों में शिव भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी हुई है. भोले भंडारी को खुश करने और उनका आशीर्वाद लेने के लिए कोई मंदिरों में जलाभिषेक कर रहा है तो कोई दूध व बेल की पत्तियों से पूजा- अर्चना कर रहा है.इस खास मौके पर प्रयागराज के शिव मंदिरों में सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ने लगी है. कई कांवड़िए भी शिव मंदिरों में पूजा- आराधना के बाद संगम का जल लेकर ज्योतिर्लिगों की यात्रा को पूरी करने निकल पड़े हैं. कई दशकों बाद विशेष संयोग बनने से श्रद्धालुओं में इस बार ख़ास उत्साह देखने को मिल रहा है.सावन के आख़िरी सोमवार पर तमाम श्रद्धालु आज गंगा- यमुना और अदृश्य सरस्वती की त्रिवेणी पर संगम के जल से आचमन कर गंगा में आस्था की डुबकी लगा रहे हैं. इस मौके पर शिव मंदिरों व दूसरी जगहों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए हैंसावन के आख़िरी सोमवार पर भी आज शाम को प्रयागराज में परम्परागत तांगा दौड़ होगी, जिसमें सुल्तान और भूकंप जैसे तमाम घोड़े पैदल चाल की प्रतियोगिता में अपने करतब दिखाएंगे. यहां की तांगा दौड़ को देखने के लिए देश के कोने- कोने से श्रद्धालु प्रयागराज आते हैं. पौराणिक मान्यताओं और कई प्राचीन शिव मंदिर होने की वजह से प्रयागराज में सावन का विशेष महत्व है. शहर के मनकामेश्वर मंदिर, दशाश्वमेध मंदिर, तक्षक तीर्थ मंदिर और पड़िला महादेव समेत सभी शिवालयों में सुबह से ही भक्तों की लम्बी लाइन लगी हुई है. इस मौके पर कई शिव मंदिरों में भजन व आरती के विशेष कार्यक्रम हो रहे हैं.सावन का महीना चल रहा है. ये महीना भगवान शिव को बहुत प्रिय है. सोमवार को विशेषतौर पर भगवान शिव की पूजा की जाती है. आज सावन का आखिरी सोमवार है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: