मायावती का मुस्लिम कार्ड, मुनकाद अली बने बसपा के प्रदेश अध्यक्ष

लोकसभा चुनाव के बाद से बसपा संगठन में उलटफेर जारी है। बुधवार को मायावती ने मुस्लिम कार्ड चलते हुए पुराने वफादार मुनकाद अली को प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया। वहीं, गठबंधन तोडऩे के बाद समाजवादी पार्टी के यादव वोटबैंक पर भी निगाहें लगी है। यादवों मे सेंध लगाने के लिए नौकरशाह से सांसद बने श्याम सिंह यादव को लोकसभा में दलनेता नियुक्त किया है। अन्य पिछड़ा वर्ग को साधने के लिए प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा को प्रोन्नत कर राष्ट्रीय महासचिव बनाया है। सोशल इंजीनिरिंग की मजबूती के लिए रितेश पांडेय लोकसभा में उपनेता बनाए गए जबकि सांसद गिरीश चंद्र जाटव लोकसभा में मुख्य सचेतक बने रहेंगे।

 

समाजवादी पार्टी से गठबंधन तोडऩे व विधानसभा के उपचुनावों में उतरने की घोषणा के बाद बसपा प्रमुख मायावती ने बुधवार को संगठन में फेरबदल करते हुए सामाजिक समीकरण साधने की कोशिश की है। संगठन में बदलाव को तीन तलाक मुद््दे पर खामोशी और अनुच्छेद 370 को खत्म करने पर सरकार के समर्थन में खड़े दिखने से भी जोड़कर देखा जा रहा है। इस उलटफेर के जरिए दलित-मुस्लिम गठजोड़ को मजबूती देेने के साथ वफादार व मिशन से जुड़े कार्यकर्ताओं को भी संदेश दिया है। वहीं, श्याम सिंह यादव जैसे नए चेहरे को तरजीह देकर एक तीर से कई निशाने साधने की कोशिश की है। बसपा द्वारा जारी बयान में संगठन में बदलाव को सर्वजन हिताय व सर्वजन सुखाय नीति पर अमल को जरूरी तब्दीली बताया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: