लखनऊः मरीज की मौत के बाद भी वसूलते रहे हजारों रुपये, हंगामा

लखनऊ में पीजीआई थाना क्षेत्र के उतरेटिया स्थित राजधानी अस्पताल में मंगलवार को मरीज की मौत के बाद जमकर हंगामा हुआ। परिवारीजनों का आरोप है कि चिकित्सकों ने ठीक से इलाज नहीं किया। इतना ही नहीं मरीज की मौत के बाद भी रुपये वसूलते रहे।

कुल करीब 65 हजार रुपये वसूले। उन्होंने अस्पताल संचालक के खिलाफ पीजीआई थाने में तहरीर दी है। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। इसके बाद रिपोर्ट दर्ज की जाएगी। गोसाईगंज थाना क्षेत्र के सिंगटा गांव निवासी राजेश ने अपने पिता राम किशुन (55) को सोमवार शाम राजधानी अस्पताल में भर्ती कराया।

यहां बताया गया कि रामकिशुन को निमोनिया हो गया है। उन्हें वेंटिलेटर पर रखने के लिए 15 हजार रुपये जमा कराए। इसके बाद उन्हें आईसीयू में शिफ्ट कर दिया गया। राजेश ने बताया कि उसके पिता राम किशुन मंगलवार तड़के करीब चार बजे घबराए हुए आईसीयू से बाहर निकले

वह कह रहे थे कि यहां उनका कोई इलाज नहीं हो रहा है। इस पर डॉक्टर और वहां मौजूद कर्मचारी उन्हें पकड़ कर आईसीयू में ले गए। सुबह करीब नौ बजे दोबारा 15 हजार रुपये जमा कराए गए।

चिकित्सक पर लगाया लापरवाही का आराोप

दोपहर करीब 12 बजे डॉक्टर ने कहा कि इन्हें पीजीआई अथवा मेडिकल कॉलेज ले जाओ। मेडिकल कॉलेज पहुंचे तो पता चला कि उनकी मौत कई घंटे पहले ही हो चुकी है। इस पर वे दोबारा राजधानी अस्पताल पहुंचे और यहां जमकर विवाद हुआ।

राजेश का आरोप है कि यहां के चिकित्सकों ने ठीक से इलाज नहीं किया। करीब नौ बजे ही उनके पिता की मौत हो गई थी, इसके बाद भी रुपये वसूलते रहे। उन्होंने पीजीआई थाने में तहरीर दी। इसमें चिकित्सक पर लापरवाही का आरोप लगाया है। विवाद बढ़ने पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

खुद ऑक्सीजन हटाया इसलिए हुई मौत

मरीज राम किशुन को सेप्टीसीमिया था। उसे आईसीयू में रखा गया था। मंगलवार दोपहर 12 बजे हालत बिगड़ने पर मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया। मरीज को एंबुलेंस में ले जाते समय परिजनों ने हंगामा किया। स्टाफ के दो लोगों को साथ भेजा गया था, जिन्हें रास्ते में उतार दिया। वे केजीएमयू ले गए और खुद से ऑक्सीजन हटा दिया, जिससे मरीज की मौत हुई। इसके बाद अस्पताल आकर यहां दोबारा हंगामा किया। – डॉ. एसपी दुबे, संचालक, राजधानी अस्पताल

 

पोस्टमार्टम के बाद दर्ज होगी रिपोर्ट

तहरीर मिली है। मृतक केबेटे राजेश ने अस्पताल संचालक और डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगया है। पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। इसके बाद रिपोर्ट दर्ज की जाएगी। – अशोक कुमार सरोज, इंस्पेक्टर, पीजीआई थाना

शिकायत सही मिली तो कार्रवाई

अभी तक मामला संज्ञान में नहीं आया है। पता कराते हैं। मरीज के साथ लापरवाही हुई है तो जांच कराकर अस्पताल के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। – डॉ. नरेंद्र अग्रवाल, सीएमओ लखनऊ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: