भू-माफिया घोषित होने के बाद आजम पर गिरफ्तारी की तलवार, आरोपों की जांच के लिए रामपुर पहुंचेगी ‘सपा’ की टीम

ANA News

रामपुर: समाजवादी पार्टी के सांसद मोहम्मद आजम खान भू-माफिया घोषित हो चुके हैं. भूमाफिया घोषित होने के बाद आजम पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है और उन्होंने इसे हाईकोर्ट में चुनौती देने की बात कही है. वहीं, आजम पर लगे आरोपों की जांच के लिए समाजवादी पार्टी की एक टीम आज रामपुर पहुंचेगी. आजम खान को रामपुर में प्रशासन ने भू-माफिया घोषित किया है और उनके खिलाफ बीते एक हफ्ते में 23 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं.

सपा के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी समाजवादी पार्टी के 21 विधायकों और विधान सभा परिषद के सदस्यों की एक कमेटी बनाई है जो आज रामपुर पहुंचेगी और आजम खान पर लगे आरोपों की जांच कर अपनी रिपोर्ट अखिलेश यादव को देगी.

आजम खान पर ज़मीन कब्जाने के 23 मुकदमे दर्ज

बता दें कि सपा नेता आजम खान पर हाल ही में प्रशासन ने कोसी नदी क्षेत्र की 5 हेक्टेयर सरकारी जमीन कब्जाने और सरकारी कार्य में बाधा डालने का मुकदमा दर्ज कराया गया था. जिसके बाद आजम खान और पूर्व सीओ आले हसन का नाम एंटी भू माफिया पोर्टल पर दर्ज किया गया है. जिला अधिकारी ने बताया कि नदी की जमीन कब्जाने का आरोप जांच में सिद्ध हुआ है जिसके बाद प्रशासन की तरफ से मुकदमा भी दर्ज कराया गया है. वहीं लगभग 23 किसानों की जमीन पर कब्जा करने के आरोप उनपर पहले ही है. पिछले 1 हफ्ते में आजम खान पर ज़मीन कब्जाने के 23 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं.

आजम खान ने रामपुर जिला अधिकारी पर लगाए आरोप

भू-माफिया घोषित होने के बाद आजम खान ने अपने ऊपर लगे मुकदमों के लिए सीधे तौर पर रामपुर के जिला अधिकारी आंजनेय कुमार सिंह को जिम्मेदार ठहराया है. आजम ने कहा, ”जिला अधिकारी उन्हें लोकसभा चुनाव में चुनाव हरवाना चाहते थे, लेकिन वह चुनाव जीत गए. इसलिए अब बदले की भावना से उनके खिलाफ कार्रवाई हो रही है.” आजम खान ने जिलाधिकारी रामपुर पर कई निजी हमले भी किए जिसके बाद अब रामपुर के जिलाधिकारी

आजम खान को अपनी सीमाएं नहीं लांघनी चाहिए- आंजनेय कुमार

वहीं, आंजनेय कुमार सिंह ने एबीपी न्यूज़ से खास बातचीत में इन सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा, ”मेरी आजम खान से कोई निजी रंजिश नहीं है. जितनी भी शिकायतें आती हैं, उनपर नियम संगत कार्यवाही होती है. आजम खान एक जनप्रतिनिधि हैं, इस नाते आजम खान का पहले भी सम्मान करते थे और अब भी सम्मान करते हैं. आजम खान को अपनी सीमाएं नहीं लांघनी चाहिए.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

application/x-httpd-php footer.php ( PHP script text )
%d bloggers like this: