मकर संक्रांति पर संगम में एक करोड़ श्रद्धालु लगाएंगे आस्था की डुबकी

प्रयागराज: मकर संक्रांति का स्नान पंद्रह जनवरी को संगम नगरी प्रयागराज में पूरी आस्था और श्रद्धा के साथ मनाया जाएगा. मकर संक्रांति पर माघ मेले में तकरीबन एक करोड़ श्रद्धालुओं के आने और संगम में आस्था की डुबकी लगाने की उम्मीद है. प्रशासन ने इस स्नान पर्व के लिए सभी तैयारियां पूरी कर लिए जाने का दावा किया है. मकर संक्रांति का स्नान संगम पर सुबह 4 बजे से ही शुरू हो जाएगा. मकर संक्रांति का प्रयागराज में विशेष महत्व है.

 

धार्मिक मान्यता है कि सभी देवी देवता भी यहां अदृश्य रूप से मौजूद रहते हैं और भक्तों को आशीर्वाद देते हैं. ग्रह नक्षत्रों के ख़ास संयोग की वजह से इस बार के संक्रांति स्नान का फल ख़ास फायदा देने वाला होगा. जानकारों के मुताबिक़ मकर संक्रांति पर गंगा में तीन बार डुबकी लगातएं और तेल, तिल के साथ ही अपनी सामर्थ्य के मुताबिक धान्य का दान करें.

 

मेले को तीन जोन सात सेक्टरों में मेले को बांटा गया

 

प्रयागराज में 2560 बीघे में बसाये गए माघ मेले को तीन जोन और सात सेक्टरों में बांटा गया है. इसके साथ ही मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए पांच किलोमीटर के दायरे में बारह स्नान घाट बनाये गए हैं. कुम्भ मेले की ही तर्ज पर स्नान घाटों पर डीप वाटर बैरिकेटिंग, जाल और घाटों पर रेत भरकर बोरियां लगायी गई हैं.

 

 

इसके साथ ही स्नान के बाद घाटों पर निकलने वाले श्रद्धालुओं के लिए कांसा घास भी बिछाई गई है. जबकि महिलाओं के लिए सैकड़ों की तादात में स्नान घाटों पर चेंजिंग रुम भी बनाये गए हैं. प्रशासन ने मकर संक्रांति के स्नान पर्व को लेकर सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम का दावा किया है. मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को देखते हुए पुलिस ने मेले में ट्रैफिल डायवर्जन भी लागू कर दिया है.

 

संगम क्षेत्र में चौकसी बढ़ाई गई

 

मकर संक्रांति के स्नान पर्व को लेकर पूरे संगम क्षेत्र में चौकसी बढ़ा दी गई है. इसके साथ ही स्नान घाटों पर सुरक्षा को देखते हुए जल पुलिस और गोताखोरों को भी तैनात कर दिया गया है. स्नान घाटों पर एनडीआरएफ और एसडीआरएफ को भी तैनात किया गया है.

 

 

मेलाधिकारी रजनीश मिश्र के मुताबिक माघ मेला ड्यूटी पर आये पुलिसकर्मियों की ब्रीफिंग की गई है. इसके साथ ही मेले में बनाये गए अलग-अलग प्वाइंट्स पर पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है. मेले में सुरक्षा के लिए 13 थाने , 38 चौकियां और 13 फायर स्टेशन बनाये गए हैं. जबकि मेले की सुरक्षा में विभिन्न जिलों से बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स बुलाई गई है.

 

भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात

 

मेले में सिविल पुलिस के साथ ही पीएसी और आरएफ को भी तैनात किया गया है. वहीं मेले में भीड़ के चलते किसी भी आतंकी हमले की आशंका के मद्देनजर एटीएस और एसटीएफ की टीमों को भी मेले की सुरक्षा में लगाया गया है.

 

पूरे मेले की निगरानी के लिए तीसरी आंख का भी सहारा लिया गया है. मेले में दो सौ सीसीटीवी कैमरे भी लगाये गए हैं. जबकि ड्रोन कैमरे से भी मेले पर पुलिस नजर रखेगी. इस बार माघ मेला पौष पूर्णिमा के पर्व दस जनवरी से शुरु होकर 21 फरवरी को महाशिवरात्रि के पर्व तक चलेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

छूटी हुई खबरे

%d bloggers like this: