बसपा अध्यक्ष मायावती का जन्मदिन जनकल्याणकारी दिवस के रूप में मनाया जाएगा

बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने संगठन में फेरबदल किया है। जातिगत समीकरण साधते हुये बसपा सुप्रीमो ने ब्राह्मण कार्ड चला है। लोकसभा में पार्टी का नेता बदलते हुये दानिश अली को हटाकर रितेश पांडे को जिम्मेदारी सौंपी है। दूसरी तरफ मलूक नागर को सदन का उपनेता बनाया गया है। पार्टी अध्यक्ष ने प्रदेश अध्यक्ष मुनकाद अली का पद बरकरार रखा है। इन सभी बदलाव के पीछ तर्क यह रखा गया है कि सभी एक ही समुदाय के थे इसलिये यह फेरबदल किया गया है।

मायावती ने ट्वीट करते हुये यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बसपा में सामाजिक सामंजस्य बनाने को मद्देनजर रखते हुए लोकसभा में पार्टी के दलनेता व उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष एक ही समुदाय के होने के नाते इसमें थोड़ा परिवर्तन किया गया है। अर्थात अब लोकसभा में बीएसपी के नेता रितेश पांडेय को व उपनेता मलूक नागर को बना दिया गया है, लेकिन उत्तर प्रदेश के प्रदेशाध्यक्ष मुनकाद अपने इसी पद पर बने रहेंगे। साथ ही उत्तर प्रदेश विधानसभा में बीएसपी के नेता लालजी वर्मा पिछड़े वर्ग से व विधान परिषद में बीएसपी के दलनेता दिनेश चंद्रा दलित वर्ग बने रहेंगे अर्थात यहां कुछ भी परिवर्तन नहीं किया गया है।

जन्मदिन पर जनकल्याणकारी दिवस के रूप में मनाया जाएगा

बसपा अध्यक्ष मायावती का जन्मदिन 15 जनवरी को है। हर साल की तरह जिले के कार्यालय में जनकल्याणकारी दिवस के रूप में मनाया जाएगा। इस दौरान गरीबों के लिए उपहार बांटे जाएंगे और केक काटा जाएगा। जानकारी के अनुसार मायावती दिल्ली में अपना जन्मदिन मनाएंगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

छूटी हुई खबरे

%d bloggers like this: