JNUTA ने राष्‍ट्रपति के नाम लिखा खुला पत्र, कहा- करें हस्तक्षेप

 जेएनयू में हॉस्‍टल की फीस बढ़ाने को लेकर लगातार प्रदर्शन जारी है और इससे छात्रों की पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है. इसे लेकर जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन, JNUTA ने देश के राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद को खुला पत्र लिखा है और मामले में हस्‍तक्षेप करने का अनुरोध किया है. राष्ट्रपति को लिखे खुले पत्र में, शिक्षक संघ ने राष्ट्रपति से छात्रावास शुल्क वृद्धि के मामले को देखने और वर्तमान गतिरोध का रास्ता खोजने का अनुरोध किया है.

जेएनयूटीए  ने पूरी तरह से कुलपति, प्रोफेसर एम. जगदीश कुमार को उनके कुशासन के लिए जिम्मेदार ठहराया और लिखा कि यूनिवर्सिटी में पैदा हुआ संकट उनके कुशासन का ही नतीजा है. अपने पत्र में शिक्षक एसोसिएशन ने लिखा है कि हालांकि एक धारणा बनाने की कोशिश की गई है कि छात्रों और शिक्षकों ने कुलपति और उनके प्रशासन के साथ सहयोग नहीं किया है, लेकिन सच्चाई इससे बहुत अलग है.

प्रो. कुमार ने वैधता और स्वच्छ शासन के मार्ग का अनुसरण करने से इनकार कर दिया है और व्यवस्थित रूप से और जानबूझकर शासन के पूरे संस्थागत ढांचे को ध्वस्त कर दिया है. साथ ही टीचर एसोसिएशन ने राष्‍ट्रपति से VC पद से प्रो. कुमार को हटाने की भी मांग कर दी.

बता दें कि यूनिवर्सिटी के छात्रों ने इस साल सेमेस्‍टर परीक्षा का बहिष्‍कार करने का निर्णय लिया है. सेमेस्‍टर एग्‍जाम, 12 दिसंबर से शुरू हो रहे हैं. हालांकि विश्‍वविद्यालय प्रशासन ने नोटिस जारी कर कहा है कि परीक्षाएं अपने शेड्यूल के अनुसार ही समय पर होंगी, ताकि हजारों छात्रों के शैक्षणिक करियर पर कोई प्रभाव ना पड़े.

हॉस्‍टल फीस वृद्ध‍ि को लेकर आज, JNU के छात्र राष्‍ट्र‍पति भवन तक मार्च करेंगे. इसलिये दिल्‍ली पुलिस (Delhi Police) ने राष्‍ट्रपति भवन के आसपास सुरक्षा व्‍यवस्‍था बढ़ा दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

छूटी हुई खबरे

%d bloggers like this: