राजधानी के गोमतीनगर स्थित ग्रीनवुड एच ब्‍लॉक में मिला दो मुंहा ‘रेड सैंड बोआ’ सांप,

राजधानी के गोमतीनगर स्थित ग्रीनवुड एच ब्‍लॉक में बुधवार दोपहर एक दो मुंहे रेड सांप सैंड बोआ के निकलने से सनसनी फैल गई। जिसे पकड़ने के लिए लोग घंटों तक मशक्‍कत करते रहे। इसके बाद एक ब्‍लॉक के रहने वाले अनुभव वर्मा ने उसे पकड़ लिया। वहीं वन विभाग को सूचना दी गई है तब तक इस सांप को देखने के लिए भीड़ जुटने लगी। दो मुंहे सांप सैंड बोआ की भारत में इस सांप की काफी मान्‍यता है। जिसकी वजह से इसकी कीमत करोड़ों में है।ग्रीनवुड एच ब्लाक में बुधवार को एक दुर्लभ प्रजाति का दो मुंहा सांप रेड सैंड बोआ निकला। सांप के निकलने की सूचना ब्‍लॉक में हड़कंप मच गया। लोगों ने काफी देर तक सांप को पकड़ने की नाकाम कोशिश की। इसके बाद द लीफ होटल के मालिक नितेश और जे ब्लाक के अनुभव वर्मा ने मौके पर पहुच कर सांप पकड़ लिया। सांप को सुरक्षित रख लिया गया है। रेस्‍क्‍यू के लिए वन विभाग को सूचना दे दी गई है। रेड सेंड बोआ सांप दुर्लभ प्रजाति का सांप है। अधिकतर ये सांप रेतीली जमीन पर रहता है जिसकी वजह से इसे सैंड बोआ कहते हैं। दो से तीन किलो के इस सांप की कीमत करोड़ों में होती है। नेपाल के रास्‍ते इनकी तस्‍करी भी होती है। यह एक विषहीन सांप है, सुस्‍त रफ्तार की वजह से इसे आसानी से पकड़ा जा सकता है। अंधविश्‍वास की वजह से लोग इसका मांस भी खाते हैं। इसकी मांग भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी बहुत है। सैंड बोआ कभी अपने बनाए बिल में नहीं रहता है बल्कि दूसरे सांप के बिल में रहता है। कभी कभार दूसरे सांप को भी मारकर खाता है। रेड सैंड बोआ सांप के दो मुंह नहीं होता है। इसका एक ही मुंह होता है, इसकी पूछ मुंह की तरह दिखती है जिससे ये खतरा महसूस होने पर अपने दुश्‍मन को चकमा देता है। खतरा लगने पर ये अपनी पूंछ को हवा में खड़ा कर लेता है जिससे सामने वाले को लगता है कि ये इसका मुंह है। ये सांप अधिकतर राजस्‍थान की मरू भूमि में पाया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

छूटी हुई खबरे

%d bloggers like this: